Tel: +91 9416482156
Email: desharyana@gmail.com
Home खेती-बाड़ी

खेती-बाड़ी

कुलदीप सिंह ढींढसा – खेती को लाभकारी पेशा नहीं बना पाए

1966 में हमारे सामने अनेक चुनौतियां थी। मुझे याद है उस समय पंजाब  के एक नेता ने कहा था कि इनके पास खाने को...

सतीश त्यागी – किसान-संघर्ष से जन्मी सत्ताओं ने ही किसान को दुत्कारा

खेती-बाड़ी 1930 के दशक में चौधरी छोटूराम  हरियाणा के किसानों का आह्वान कर रहे थे कि वे अपने हकों के लिए संघर्ष का रास्ता अख्तियार...

सुधीर डांगी – सरकार से किसान को अपनापन नहीं मिलता

खेती-बाड़ी यह विडम्बना ही है कि कृषि-प्रधान देश में आज किसान किसी भी प्रकार से केंद्र में नही है। चाहे कोई भी सरकार हो, किसी...

राजकुमार शेखुपुरिया – खेती में आए बदलाव

खेती-बाड़ी सिरसा जिला के उत्तर में पंजाब और पश्चिम और दक्षिण में राजस्थान है। यहां बोलचाल में पंजाबी, हिन्दी और बागड़ी भाषा का प्रयोग आमजन...

ललित यादव – हरियाणा में अन्नदाता पर आफत

किसानों के हितों के लिए केंन्द्र के साथ राज्य सरकार ने भी घोषणाएं करने में तो कोई कमी नहीं छोड़ी पर तस्वीर वैसी नहीं...

डा. जोगिन्द्र सिंह मोर – बदलते हालात-पिछड़ती कृषि

                धरती की सदियों से इकट्ठी की हुई उत्पादन शक्ति को आधी सदी से भी कम समय में हमने  उसे निचोड़ कर रख दिया...

राजकिशन नैन – सिमट रही है आज अंजरि मेंं उनकी धरा-किसानी

हरियाणवी अंचल के गांवों में वैश्वीकरण के दानवी पंजे ने सदियों से चले आ रहे लोकजीवन के ताने-बाने को पूरी तरह छिन्न-भिन्न कर दिया...

कमलेश चौधरी – हरित क्रान्ति और हरियाणा का विकास

लेख हरियाणा का नाम आते ही कृषि व किसान पर आधारित प्रदेश की छवि आँखों में उभर आती है। जो हरा भरा व सम्पन्न है,...

विनोद स्वामी – राजस्थान में किसान आंदोलन

बीजो ना इब बाजरी, बीजो हिवड़े आग। क्रांति फसलां काटस्यां, किस्सा काती लाग।। राजस्थानी साहित्यकार रामस्वरूप किसान ने जब यह दोहा लिखा, तब राजस्थान का किसान...

देवेन्द्र शर्मा  से अरुण नैथानी की बातचीत -कृषि संकट : आर्थिक कुप्रबंधन की देन

अरुण नैथानी - देश में खेती की निर्भरता का सच क्या है? जीडीपी में योगदान का वास्तविक आंकड़ा कितना है? देवेन्द्र शर्मा - सच ये...