Tel: +91 9416482156
Email: desharyana@gmail.com

कच्चे रास्तों का धनी-धोरी

अमित मनोज                 जिमाड़ों में हमारी खास रूचि हो गई थी। स्कूल में पढ़ाते हुए हम और चीजों की बजाय खाने-पीने में ही ज्यादा ध्यान...

इज्जत की खातिर

नरेश कुमार  मां, सुन, रात को बबली और सोनिया की मौत हो गई। हां, बेटी ,उनके घर वाले कह रहे थे कि कल रात दोनों...

रेलगाड़ी

सुरेश बरनवाल ज्यों ही रेलगाड़ी की सीटी की आवाज सुनाई दी, बूढ़ा जसवन्त मंजी से तेजी से उठा और लंगड़ाता सा घर के भीतर चला...

भगवाना चौधरी

कुलबीर सिंह मलिक  नवम्बर का महीना। दोपहर का वक्त। सन् सैंतालीस का मुल्क के बंटवारे का दौर। जींद शहर से पांच सात किलोमीटर पर जींद-हांसी...

सरदार जी

ख्वाजा अहमद अब्बास, अनु. शम्भु यादव लोग समझते हैं सरदार जी मर गये। नहीं यह मेरी मौत थी। पुराने मैं की मौत। मेरे तअस्सुब (धर्मान्धता)...

नरेश कुमार- वो रात को लाहौर चले गए

कहानी भरतो इस साल चौरासी पार कर जाएगी। 15 वर्ष की उम्र में शादी हो गई थी। साढ़े  सोलह की उम्र में पहली बेटी को...

रामकिशन राठी – नूरू की थाली

घोड़े दौड़ रहे थे...क्यड़पड़-क्यड़पड़, नगाड़े बज रहे थे...पडग़ड़ाम...पडग़ड़ाम-पडग़ड़ाम... लड़ाई के मैदान के नजारे को बयान करते हुए वह मुंह से ऐसी आवाजें निकालता था जो...

माई दे मालोटा – कमलेश चौधरी

हरियाणवी कहानी हरियाणा के जिस स्थान पर मैं रहती हूं, वह कुछ सालों पहले तक ठेठ गांव  था। धीरे-धीरे वह विकसित होकर कस्बे का रूप...

यशपाल – करवा का व्रत

कालजयी कहानी यशपाल जन्म: 3 दिसम्बर, 1903 ई. फ़िरोजपुर छावनी, पंजाब, भारत मृत्यु: 26 दिसंबर, 1976 ई. करवा का व्रत यशपाल कन्हैयालाल अपने दफ्तर के हमजोलियों और मित्रों से दो तीन बरस बड़ा ही था, परन्तु ब्याह उसका उन...

डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल व रमेश उपाध्याय का पत्र-व्यवहार

ई-16, यूनिवर्सिटी कैम्पस, कुरुक्षेत्र (हरियाणा)-132119 30 अगस्त 1991 प्रिय भाई रमेश,             आपका पत्र। बीच में एकाध दिन के लिए बाहर जाना पड़ा। इसीलिए तुरंत जवाब देने की...