Tag: हीर रांझा

हरियाणा में सांग परम्परा – सपना रानी

Post Views: 3,238 आलेख हरियाणा में लोक मंच को ‘सांग’ के नाम से जाना जाता है। ‘सांग’ शब्द,  स्वांग शब्द से बना है जो नाट्य शास्त्र के ‘रूपक’ शब्द का

Continue readingहरियाणा में सांग परम्परा – सपना रानी

काठ का मन -कविता वर्मा

Post Views: 671 कविता काठ का मन काठ का तन काठ सा जीवन काठ सी बेजान ख्वाहिशें । टक-टक ठुकती कींल एक एक चाहत में। काठ की हसरतें, संवेदना शून्य

Continue readingकाठ का मन -कविता वर्मा