Tag: हिन्दी विभाग कुरुक्षेत्र

सृजनात्मक प्रतिरोध है जरूरी – डॉ. सिद्धार्थ शंकर राय

साहित्य जनता की चितवृत्तियों का संचित प्रतिबिम्ब होता है।कैसे भारतीय कवि अपनी कविता के माध्यम से आजादी के आन्दोलन में जनता में चेतना पैदा करने का कार्य करते है। … Continue readingसृजनात्मक प्रतिरोध है जरूरी – डॉ. सिद्धार्थ शंकर राय

स्वतंत्रता आंदोलन और भारतीय साहित्य पर संगोष्ठी एवं प्रदर्शनी आयोजित

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 1857 की क्रांति की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में “भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन व हिन्दी साहित्य” विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। … Continue readingस्वतंत्रता आंदोलन और भारतीय साहित्य पर संगोष्ठी एवं प्रदर्शनी आयोजित