Tag Archives: हांसी

हरियाणा का इतिहास-अल्पतंत्रीय वर्ग का उत्थान

बुद्ध प्रकाश यौधेयों ने, जिनके विषय में पहले उल्लेख किया जा चुका है, ई, पू.  की प्रथम तथा द्वितीय शताब्दी के उत्तरार्ध में अपनी मुद्रा चला कर भारतीय इतिहास में ख्याति प्राप्त की। उन सिक्कों को उनके रूपांकनों के आधार पर अनेक वर्गों में बांटा जा सकता है। कुछ पर चक्र वृक्ष, कुछ पर ध्वज और सूर्य तथा कुछ पर

Read more

हरियाणा का इतिहास-सिक्खों का शासन तथा यूरोप के लोगों का हस्तक्षेप

बुद्ध प्रकाश 14 जनवरी, 1764 में सिक्खों ने सरहिन्द के अफगान राज्यपाल जैन खां को पराजित किया तथा पूर्वी पंजाब और हरियाणा में अफगान शासन समाप्त कर दिया। तत्पश्चात सिक्ख सरदारों ने हरियाणा आपस में बांट लिया। फूल सिंह वंश के गजपत सिंह ने जींद तथा सफीदों में मोर्चाबंदी की। पटियाला के आलासिंह तथा अमरसिंह ने भी हरियाणा का कुछ

Read more

हरियाणा का इतिहास-ब्रिटिश शासन की स्थापना -बुद्ध प्रकाश

30 दिसम्बर, 1803 को दौलत राव सिन्धिया ने सिरजी अंजनगांव की सन्धि द्वारा हरियाणा  प्रदेश ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी को सौंप दिया। प्रशासन के लिए रेजिडेंट नियुक्त करके इसे बंगाल प्रेसीडेंसी में सम्मिलित कर दिया गया। यमुना के दायें तटीय प्रदेश का उपखण्ड, जिसमें उत्तर की ओर पानीपत, सोनीपत, समालखा, गन्नौर तथा हवेली पालम तथा दक्षिण में नूह, हथीन, तिजारा,

Read more

हांसी से बही सूफी विचारधारा

हांसी से बही सूफी विचारधारा स्वामी वाहिद काज़मी हांसी में स्थित दरगाह चहार कुतब। प्रख्यात चार सूफी संतों का मकबरा ।  ‘कुतब’ शब्द  आदर्श  व्यक्ति प्रयोग होता है। यहां दफन महान सूफी संतों या कुतब जमाल उद दीन हांसवी, बुरहानुद् दीन, कुतुबुद्दीन मनुव्वर और नूरूद्दीन हैं। उस समय के कई मुस्लिम गणमान्य व्यक्तियों के मकबरे भी दरगाह में है जैसे

Read more