placeholder

सामंती व्यवस्था से टकराता साहित्यकार – बी. मदन मोहन

तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव के दौरान 9 फरवरी 2019 को ‘लेखक से संवाद’ सत्र का आयोजन किया गया। जिसमें हिमाचल के प्रख्यात साहित्यकार एस.आर. हरनोट के साथ श्रोताओं ने संवाद करना था, लेकिन स्वास्थ्य के चलते वे पहुंच नहीं पाए। एम एल एन कालेज, यमुनानगर में हिंदी के एसोसिएट प्रोफेसर बी.मदनमोहन ने उनकी रचनाओं से परिचित करवाया और उनकी रचनाओं के सामाजिक सरोकारों व सौंदर्य-शिल्प पर चर्चा की। प्रस्तुत है विकास साल्याण की रिपोर्ट –

हरियाणा सृजन उत्सव – सृजन के नए संकल्पों के साथ सम्पन्न

Post Views: 67 कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय स्थित आर.के. सदन में देस हरियाणा द्वारा आयोजित किया जा रहा दो दिवसीय हरियाणा सृजन सृजन के नए संकल्पों के साथ सम्पन्न हो गया। अहा…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव का शुभारंभ धूमधाम से हुआ

Post Views: 26 देस हरियाणा द्वारा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के आर.के. सदन में तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव का शुभारंभ धूमधाम से हुआ। देस हरियाणा के संपादक एवं सृजन उत्सव के संयोजक…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव को लेकर रचनाकारों एवं कलाकारों में खासा उत्साह

Post Views: 51 कुरुक्षेत्र 7 फरवरी 2019 कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के आर के सदन में 9 व 10 फरवरी को हरियाणा सृजन उत्सव के आयोजन के संदर्भ में आज सेंट्रल कंटीन,…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव 2019, कार्यक्रम

Post Views: 171 तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव  का आगाज हो चुका है। हर वर्ष यह कार्यक्रम फरवरी के महीने में कुरूक्षेत्र में आयोजित किया जाता है। यह एक साहित्यिक-सांस्कृतिक और समाजिक…