placeholder

स्त्री-स्त्री-स्त्री -सुरेश बरनवाल

Post Views: 205 कविता स्त्री-स्त्री-स्त्री स्त्री अगर पत्नी है तो स्त्री है या फिर बेटी, मां, बहन जो भी। जब तक वह समाज की परिभाषाओं से बंधी रहती है स्त्री…

placeholder

युद्ध की अनिवार्यता -सुरेश बरनवाल

Post Views: 185 कविता युद्ध इसलिए होते हैं ताकि भविष्य में और युद्ध न हो। और भविष्य के युद्ध को रोकने के लिए हमेशा युद्ध होते रहेंगे। स्रोतः सं. सुभाष…

placeholder

युद्ध की विभीषिका -सुरेश बरनवाल

Post Views: 269 कविता युद्ध की विभीषिका इससे मत गिनो कितने मरे कितने घायल हुए कितना रक्त बहा। युद्ध की विभीषिका इससे गिनो कितने जिन्दा आदमी मर चुके लोगों की…