Tag: सुरेन्द्र पाल सिंह

कोई दूसरा लोग – सुरेन्द्र पाल सिंह

Post Views: 121 सुरेन्द्र पाल सिंह हरियाणा की लोक–संस्कृति को पैनी इतिहास बोध भरी दृष्टि से देखते रहे हैं लेकिन इधर अब उनकी दिलचस्पी कविताओं के अनुवाद और कहानी लेखन

Continue readingकोई दूसरा लोग – सुरेन्द्र पाल सिंह

सुंदरी के सौंदर्य से सराबोर ‘सुंदरबन’ -सुरेन्द्र पाल सिंह  

Post Views: 173 गंगा, ब्रह्मपुत्र और मेघना नदियों के बीच एक विशाल डेल्टा में अनजाने से नामों वाली अनेक छोटी बड़ी नदियाँ हैं, बंगाल की खाड़ी का बैकवॉटर है, खारे

Continue readingसुंदरी के सौंदर्य से सराबोर ‘सुंदरबन’ -सुरेन्द्र पाल सिंह  

बड़ी माता का निकलना: लोकजीवन में आस्था और परिवर्तन – सुरेन्द्र पाल सिंह

सुरेन्द्र पाल सिंह रिटायर्ड बैंक अधिकारी हैं और एक सक्रीय समाज सेवी हैं। हरियाणा और उसके आस पास के इलाके के इतिहास और लोक विश्वासों की विशेष समझ रखते हैं। विभिन्न प्रगतीशील पत्र- पत्रिकाओं में इनके लेख निरंतर प्रकाशित होते रहते हैं। हाल ही में इनकी ‘बाईटिगोंग’ पुस्तक प्रकाशित हुई है। वर्तमान में हरियाणा के पंचकूला में रहते हैं। सम्पर्क- 9872890401 … Continue readingबड़ी माता का निकलना: लोकजीवन में आस्था और परिवर्तन – सुरेन्द्र पाल सिंह

14 जुलाई : बास्तीय डे – सुरेन्द्र पाल सिंह

इतिहास की कुछ घटनाएं इतनी प्रभावशाली होती हैं कि सदियों तक वे एक मील के पत्थर की तरह हमारी चेतना का अभिन्न हिस्सा बन जाती हैं। 14 जुलाई 2023 को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पेरिस में बास्तीय डे परेड की सलामी ले रहे हैं और हम इस परिस्थितिजनक अंतर्विरोध के गवाह हैं कि एक ऐसा व्यक्ति जिसकी पूरी वैचारिक विरासत फ्रांस की क्रांति और उस क्रांति से उपजे मुख्य मूल्यों से कोई वास्ता ना रखने वाली हो उसे उस क्रांति के यादगार समारोह का मुख्य अतिथि होने का गौरव मिल रहा है। … Continue reading14 जुलाई : बास्तीय डे – सुरेन्द्र पाल सिंह

मनीमाजरा: कहानी एक रियासत की- सुरेन्द्र पाल सिंह

सुरेन्द्र पाल सिंह-
जन्म: 12 नवंबर 1960 शिक्षा: स्नातक– कृषि विज्ञान स्नातकोतर– समाजशास्त्र सेवा, व्यावहारिक मनौवि‌ज्ञान, बुद्धिस्ट स्ट्डीज– स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से सेवानिवृत लेखन– सम सामयिक मुद्दों पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में लेख प्रकाशित सलाहकर– देस हरियाणा कार्यक्षेत्र – विभिन्न संस्थाओं व संगठनों के माध्यम से सामाजिक मुद्दों विशेष तौर पर लैंगिक संवेदनशीलता, सामाजिक न्याय, सांझी संस्कृति व साम्प्रदायिक सद्भाव के निर्माण में निरंतर सक्रिय, देश-विदेश में घुमक्कड़ी में विशेष रुचि-ऐतिहासिक स्थलों, घटनाओं के प्रति संवेदनशील व खोजपूर्ण दृष्टि। पताः डी एल एफ वैली, पंचकूला मो. 98728-90401 … Continue readingमनीमाजरा: कहानी एक रियासत की- सुरेन्द्र पाल सिंह

किसान आंदोलन: लीक से हटकर एक विमर्श- सुरेन्द्र पाल सिंह

सुरेन्द्र पाल सिंह- जन्म – 12 नवंबर 1960 शिक्षा – स्नातक – कृषि विज्ञान स्नातकोतर – समाजशास्त्र सेवा, व्यावहारिक मनौवि‌ज्ञान, बुद्धिस्ट स्ट्डीज – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से सेवानिवृत लेखन – सम सामयिक मुद्दों पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में लेख प्रकाशित सलाहकर – देस हरियाणा कार्यक्षेत्र – विभिन्न संस्थाओं व संगठनों के माध्यम से सामाजिक मुद्दों विशेष तौर पर लैंगिक संवेदनशीलता, सामाजिक न्याय, सांझी संस्कृति व साम्प्रदायिक सद्भाव के निर्माण में निरंतर सक्रिय, देश-विदेश में घुमक्कड़ी में विशेष रुचि-ऐतिहासिक स्थलों, घटनाओं के प्रति संवेदनशील व खोजपूर्ण दृष्टि। पताः डी एल एफ वैली, पंचकूला मो. 98728-90401 … Continue readingकिसान आंदोलन: लीक से हटकर एक विमर्श- सुरेन्द्र पाल सिंह

छुआछूत और सिक्ख पंथ: सौ साल पहले की कहानी- सुरेन्द्र पाल सिंह

जन्म – 12 नवंबर 1960 शिक्षा – स्नातक – कृषि विज्ञान स्नातकोतर – समाजशास्त्र सेवा, व्यावहारिक मनौवि‌ज्ञान, बुद्धिस्ट स्ट्डीज – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से सेवानिवृत लेखन – सम सामयिक मुद्दों पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में लेख प्रकाशित सलाहकर – देस हरियाणा कार्यक्षेत्र – विभिन्न संस्थाओं व संगठनों के माध्यम से सामाजिक मुद्दों विशेष तौर पर लैंगिक संवेदनशीलता, सामाजिक न्याय, सांझी संस्कृति व साम्प्रदायिक सद्भाव के निर्माण में निरंतर सक्रिय, देश-विदेश में घुमक्कड़ी में विशेष रुचि-ऐतिहासिक स्थलों, घटनाओं के प्रति संवेदनशील व खोजपूर्ण दृष्टि। पताः डी एल एफ वैली, पंचकूला मो. 98728-90401 … Continue readingछुआछूत और सिक्ख पंथ: सौ साल पहले की कहानी- सुरेन्द्र पाल सिंह

झूठा ही सही वायदा क्यूँ न यकीं कर लेते – सुरेन्द्र पाल सिंह

Post Views: 582 2019 में 17वीं लोकसभा के चुनावों के लिए मतदान का सिलसिला जारी है. हमारे राज्य में भी 12 मई को मतदान होना है. आमतौर पर राजनैतिक पार्टियों

Continue readingझूठा ही सही वायदा क्यूँ न यकीं कर लेते – सुरेन्द्र पाल सिंह

आने वाले सालों में क्या – सुरेन्द्र पाल सिंह

Post Views: 312  गणतंत्र दिवस पर दिखाई जाने वाली झांकियों और लोक सम्पर्क विभाग द्वारा प्रस्तुत हरियाणा की स्टीरियो टाईप छवि से हटकर दैनंदिन जीवन की सकारात्मक या नकारात्मक बारीकियों

Continue readingआने वाले सालों में क्या – सुरेन्द्र पाल सिंह