Tag: सुभाष गाताड़े

त्रिमूर्ति राह दिखाएगी- सुभाष गाताड़े

‘गांधी, अंबेडकर और भगत सिंह के चिंतन की सांझी जमीन’ विषय पर डॉ. भीम राव आंबेडकर के विचारों के विशेष संदर्भ में विचार रखने के लिए प्रसिद्ध दलित चिंतक सुभाष गाताड़े जी को आमंत्रित किया गया था। किन्हीं कारणों से वे सृजन उत्सव में नहीं पहुंच पाए। उन्होंने लिखित संदेश भेजा था जिसे देस हरियाणा के संपादक डॉ. सुभाष चन्द्र ने प्रस्तुत किया। उनका यह संदेश यहां दिया जा रहा है।- सं. … Continue readingत्रिमूर्ति राह दिखाएगी- सुभाष गाताड़े

धार्मिक पूर्वाग्रहों की छाया में भोजन – सुभाष गाताड़े

Post Views: 507 भोजन को लेकर अलग अलग समुदायों/सम्प्रदायों में अलग-अलग तरह की बंदिशें बनी हैं, जो कई बार एक-दूसरे के ख़िलाफ़ भी दिखती हैं। वर्णसमाज को ही देखें जिसने

Continue readingधार्मिक पूर्वाग्रहों की छाया में भोजन – सुभाष गाताड़े

पवित्र किताब की छाया में आकार लेता जनतंत्र – सुभाष गाताड़े

Post Views: 580 हलचल डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल अध्ययन संस्थान, कुरुक्षेत्र द्वारा 26 जून 2016 को डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल स्मृति व्याख्यान-7 का आयोजन किया। विषय था ‘भारतीय लोकतंत्र: दशा और दिशा’।

Continue readingपवित्र किताब की छाया में आकार लेता जनतंत्र – सुभाष गाताड़े