Tag: सिपाही के मन की बात

सिपाही के मन की बात – मंगतराम शास्त्री

Post Views: 156 कान खोल कै सुणल्यो लोग्गो कहरया दर्द सिपाही का। लोग करैं बदनाम पुलिस का धन्धा लूट कमाई का।। सारी हाणां रहूँ नजर म्ह मेरी नौकरी वरदी की

Continue readingसिपाही के मन की बात – मंगतराम शास्त्री