Tag: रूठ गया हमसाया कैसे

रूठ गया हमसाया कैसे – बलबीर सिंह राठी

Post Views: 174 ग़ज़ल रूठ गया हमसाया कैसे, तुम ने वो बहकाया कैसे। जिस्म तो जिस्म था उसमें आखिर, इतना नूर समाया कैसे। तुमने अपने जाल में इतने, लोगों को

Continue readingरूठ गया हमसाया कैसे – बलबीर सिंह राठी