Tag: राहुल सांकृत्यायन

महापंडित राहुल का वैचारिक आधार- कमला प्रसाद

Post Views: 25 राहुल ने लगभग एक सौ उन्नीस या इससे भी अधिक ग्रन्थ लिखे हैं। ये सभी ग्रन्थ प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से ‘साम्यवादी विचारधारा’ की दृष्टि से या

Continue readingमहापंडित राहुल का वैचारिक आधार- कमला प्रसाद

राहुल सांकृत्यायन और आदिबौद्ध दर्शन – डॉ. सेवा सिंह

आदिम वर्गपूर्व समाज के निषेध की देहरी पर खड़े बुद्ध केवल इससे उत्पन्न दुख को ही देख सके। अतः बुद्ध के पास केवल यही विकल्प था कि वे आगे न देखकर तेजी से विलुप्त होते आदिम साम्यवादी समाज की ओर देखते जो इतिहास की प्रगति के साथ पूर्णतः लुप्त हो जाने को था। यह अधिक से अधिक एक वास्तविक समस्या का वैचारिक समाधान था। उन्होंने अपना सारा ध्यान इस बात पर केन्द्रित किया कि नये वर्ग विभाजित समाज में ही मानो एक प्रकार के निर्लिप्त जीवों का विकास किया जाय जिसके अन्दर ही स्वतंत्रता, समता और बंधुत्व के विस्तृत मूल्यों को व्यवहार में लाया जा सके। (लेख से) … Continue readingराहुल सांकृत्यायन और आदिबौद्ध दर्शन – डॉ. सेवा सिंह

राष्ट्रभाषा हिन्दी – राहुल सांकृत्यायन

Post Views: 56 कुछ लोगों तथा संस्थाओं की ओर से मुझसे राष्ट्रभाषा हिन्दी के सम्बन्ध में कुछ प्रश्न पूछे गये हैं। इनका उत्तर में लिखित रूप में नीचे दे रहा

Continue readingराष्ट्रभाषा हिन्दी – राहुल सांकृत्यायन

राहुल सांकृत्यायनः सत्य की खोज का नायाब पथिक – अमरनाथ

Post Views: 73 “वैसे तो धर्मों में आपस में मतभेद है। एक पूरब मुँह करके पूजा करने का विधान करता है, तो दूसरा पश्चिम की ओर। एक सिर पर कुछ

Continue readingराहुल सांकृत्यायनः सत्य की खोज का नायाब पथिक – अमरनाथ

महाकवि चतुर्मुख स्वयंभू – राहुल सांकृत्यायन

मैं समझता हूं कि वह समय जल्दी आयेगा, जब हमारे साहित्यिकों के लिए स्वयंभू का पढ़ना अनिवार्य हो जायेगां। मैंने अपनी “हिन्दी काव्यधारा” में स्वयंभू के काफी उद्धरण दिये हैं। लेकिन हिन्दी वालों का उचित योग होगा-यदि वे स्वयंभू की “रामायण” और हरिवंश पुराण (कृष्णचरित) को पूरा देखना चाहें। (लेख से) … Continue readingमहाकवि चतुर्मुख स्वयंभू – राहुल सांकृत्यायन

रहीम – राहुल सांकृत्यायन

रहीम असाधारण सुन्दर तरुण था। चित्रकार उसकी तस्वीरें उतारते थे, जिन्हें अमीर लोग अपनी बैठकों को सजाने के लिए लगाते थे। होश संभालते ही, रहीम का शायरों और कवियों, संगीतज्ञों और कलाकारों से संपर्क हुआ। लेकिन अकबर रहीम को कलाकार नहीं, सैनिक बनाना चाहता था। रहीम के जीवन का अधिकांश भाग सिपाही के तौर पर ही बीता। … Continue readingरहीम – राहुल सांकृत्यायन