placeholder

अंधविश्वास नाश की राही

रामेश्वर दास ‘गुप्त’ रागनी तर्क करूं अर सच जाणूं, ये रहणी चाहिए ख्यास मनै अंधविश्वास सै नाश की राही, बात बताणी खास मनै। भगत और भगवान बीच म्हं, दलाल बैठगे…