Tag: रचना के कलात्मक और ज्ञानात्मक मूल्यों का सहयोजन

ओम प्रकाश ग्रेवाल के न रहने का मतलब -रमेश उपाध्याय

Post Views: 254 संस्मरण             मेरे दोस्तो में सभी उम्रों के लोग हैं-कई मेरे हम उम्र, कई उम्र में मुझसे बड़े, तो कई उम्र में मुझसे छोटे। ओम प्रकाश ग्रेवाल

Continue readingओम प्रकाश ग्रेवाल के न रहने का मतलब -रमेश उपाध्याय

रचना के कलात्मक और ज्ञानात्मक मूल्यों का सहयोजन-डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल

Post Views: 276 इस प्रश्न पर विचार करते समय सबसे पहले हमें यह याद रखना होगा कि किसी भी रचना के कलात्मक और ज्ञानात्मक पक्षों को एक-दूसरे के विरोध में

Continue readingरचना के कलात्मक और ज्ञानात्मक मूल्यों का सहयोजन-डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल