Tag: मुंशी

गोदान के होरी का समसामयिक संदर्भ – आदित्य आंगिरस

Post Views: 1,137 आलोचना गोदान प्रेमचंद का एक ऐसा उपन्यास है जिसमें उनकी कला अपने चरमोत्कर्ष पर पहुँची है। गोदान में भारतीय किसान का संपूर्ण जीवन – उसकी आकांक्षा और

Continue readingगोदान के होरी का समसामयिक संदर्भ – आदित्य आंगिरस