Tag Archives: प्रोफेसर सुभाष चंद्र

वैचारिक बहस को जन्म दे रही है ‘देस हरियाणा’

प्रोफेसर सुभाष चंद्र विकास होग्या बहुत खुसी, गामां की तस्वीर बदलगी भाईचारा भी टूट्या सै, इब माणस की तासीर बदलगी -रामेश्वर गुप्ता पिछले दस-बारह सालों से ‘हरियाणा नं. 1’ की छवि गढने के लिए हजारों करोड़ रूपये खर्च करके काफी गर्दो-गुबार उड़ाई गई है। स्वर्ण जयंती के कार्यक्रमों की श्रृंखला को भी इस कड़ी में रखा जा सकता है। हजारों

Read more

हिंदी साहित्य अध्ययन-अध्यापनः चुनौतियां और सरोकार

प्रोफेसर सुभाष चंद्र, हिंदी विभाग, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय,कुरुक्षेत्र  1922-25 के आस-पास बी.एच.यू. और इलाहाबाद में हिन्दी विभाग खुलने शुरू हुए थे। अभी  उच्च शिक्षा में एक विषय के तौर पर हिंदी साहित्य-अध्ययन के सौ साल भी नहीं हुए हैं, लेकिन हिंदी साहित्य के अध्ययन अध्यापन के भविष्य को लेकर चिंताएं प्रकट होने लगी हैं। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ,बाबू श्याम सुंदर दास

Read more