Tag: झूठ फरेब छल बेगैरत का ना कती सहारा चाहिए

झूठ फरेब छल बेगैरत का ना कती सहारा चाहिए- विक्रम राही

Post Views: 219 विक्रम राही झूठ फरेब छल बेगैरत का ना कती सहारा चाहिए मनै प्यार प्रेम और भाईचारे तै मेल गुजारा चाहिए ढोंग रचाकै यारी ला लें पाप भरया

Continue readingझूठ फरेब छल बेगैरत का ना कती सहारा चाहिए- विक्रम राही