Tag: जुल्मी होया जेठ

जुल्मी होया जेठ- विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’

Post Views: 662 जुल्मी  होया  जेठ,  तपै  सै  धरती  सारी ताती  लू  के  महां,  जलै  से काया म्हारी। सूख गे गाम के जोहड़, ना आवै नहरां म्हैं पाणी बिजली भी

Continue readingजुल्मी होया जेठ- विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’