Tag: गुलजार सिंह संधू

तानाशाही मानसिकता को बेपर्दा करता उपन्यास ‘गोरी हिरनी’

Post Views: 47 लेखकः गुलजार सिंह संधुहिंदी अनुवादकः गुरबख्श मोंगा और वंदना सुखीजाप्रकाशकः गार्गीपृष्ठः 134मूल्यः रू. 120 यह बेहद उत्सुकता की बात हो सकती है कि कोई तानाशाह किस प्रकार

Continue readingतानाशाही मानसिकता को बेपर्दा करता उपन्यास ‘गोरी हिरनी’