Tag Archives: गुरबख्श सिंह मोंगा

फुहशनिगार नहीं, हकीकतनिगार- इस्मत चुगताई

गुरबख्श सिंह मोंगा समूचे भारतीय उपमहाद्वीप में इस्मत चुगताई का नाम किसी तआरूफ  का मोहताज नहीं। अपने ही घर में मजहब, मर्यादा, झूठी इज्जत के नाम पर गुलाम बना ली गई, औरत की आजादी पर उन्होंने सख्ती से कलम चलाई और उसके हकीकी हकूक के हक और उसकी हिफाजत में अपनी आवाज बुलंद की। वे सचमुच में एक स्त्रीवादी लेखिका

Read more

क्या तुम पूरा चाँद ना देखोगे – अलविदा फहमीदा रियाज़

भारत में जन्मीं और पिता के तबादले के बाद पाकिस्तान जा बसीं मशहूर शायरा फहमीदा रियाज़ का 21 नवम्बर 2018 को निधन हो गया। वह 72 वर्ष की थी और पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थीं। फहमीदा को साहित्य जगत में अपनी नारीवादी और क्रांतिकारी विचारधारा के लिए जाना जाता है। उनके निधन से उर्दू साहित्य जगत को

Read more

कल्पित तुझे सलाम

कल्पित तुझे सलाम गुरबख्श  सिंह मोंगा अनुसूचित जाति के कल्पित वीरवाल द्वारा आई.आई.टी. की प्रवेश परीक्षा में सौ फीसदी अंक लाना बताता है कि प्रतिभा किसी जाति विशेष की जागीर नहीं है।  सी.बी.एस.ई. द्वारा आयोजित आई.आई.टी- जे.ई.ई. मेन्स कि परीक्षा में 10 लाख 20 हजार विद्यार्थियों को पछाड़ते हुए राजस्थान के 17 वर्षीय दलित छात्र कल्पित वीरवाल ने 360 में

Read more