Tag: क्रांतिकारी कविता

स्वर्ण सहोदर की क्रांतिकारी कविता

Post Views: 40 हम विद्रोही, हम क्रान्ति-दूत, हम हैं विप्लववादी,तुफानों से ही लड़ने के हम हैं हरदम आदी। है धर्म हमारा दीनों के दुखों को पी लेना,है कर्म हमारा फटे

Continue readingस्वर्ण सहोदर की क्रांतिकारी कविता