placeholder

प्रतिभा और आरक्षण – रजनी दिसोदिया

आजकल आरक्षण विरोध का जो मुद्दा गरमाया है उसमें भी बड़ा कंफ्यूजन है। क्या यह पूरी आरक्षण व्यवस्था का विरोध है या अन्य पिछड़ा वर्ग के 27% आरक्षण का विरोध है या यह पिछले सत्तर वर्षों से भीतर ही भीतर सुलगती उस खुन्नस का विस्फोट है जिसे इस ओ.बी.सी. आरक्षण ने और हवा दे दी है।

placeholder

एकलव्य का लेख

Post Views: 832 सरबजीत सोही गुस्ताखी माफ करना गुरु जी! मैं कहना तो नहीं चाहता, पर हर जन्म में आपने छला है, मेरी प्रतिभा को, कभी शुद्र का सूत कह…

placeholder

मनु ने बोए आरक्षण के बीज

Post Views: 234 लेख दीपंचद्र निर्मोही आरक्षण की अवधारणा का जन्म जातियोंं के जन्म से ही जुड़ा लगता है। जाति-प्रथा के अंकुर वैदिक-काल में ही फूटते देखे जा सकते हैं।…