placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव का शुभारंभ धूमधाम से हुआ

Post Views: 105 देस हरियाणा द्वारा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के आर.के. सदन में तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव का शुभारंभ धूमधाम से हुआ। देस हरियाणा के संपादक एवं सृजन उत्सव के संयोजक…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव को लेकर रचनाकारों एवं कलाकारों में खासा उत्साह

Post Views: 149 कुरुक्षेत्र 7 फरवरी 2019 कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के आर के सदन में 9 व 10 फरवरी को हरियाणा सृजन उत्सव के आयोजन के संदर्भ में आज सेंट्रल कंटीन,…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव 2019

Post Views: 410   तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव  का आगाज हो चुका है। हर वर्ष यह कार्यक्रम फरवरी के महीने में कुरूक्षेत्र में आयोजित किया जाता है। यह एक साहित्यिक-सांस्कृतिक और…

placeholder

हरियाणा सृजन उत्सव 2019, कार्यक्रम

Post Views: 443 तीसरे हरियाणा सृजन उत्सव  का आगाज हो चुका है। हर वर्ष यह कार्यक्रम फरवरी के महीने में कुरूक्षेत्र में आयोजित किया जाता है। यह एक साहित्यिक-सांस्कृतिक और समाजिक…

placeholder

समाजवाद की स्थापना चाहते थे शहीद भगत सिंह

Post Views: 202 राजविन्द्र सिंह चन्दी  आल इंडिया लार्यर्स यूनियन जिला कांऊसिल कुरुक्षेत्र ने शहीद-ए-आजम भगत सिंह जयंती के उपलक्ष्य में 27 सितम्बर 2018 को बार रूम जिला न्यायालय कुरुक्षेत्र…

placeholder

वैज्ञानिक मानसिकता का समाज पर प्रभाव -सुरेश कुमार

Post Views: 154 गतिविधियां अखिल भारतीय जन विज्ञान नेटवर्क के आह्वान पर देशभर में चलाए जा रहे अभियान के तहत अंधविश्वास, रूढिवाद, अज्ञानता, जातिवाद जैसी भयंकर कुरीतियों व मानसिकता के…

placeholder

ओ. पी. सुथार – वर्तमान कृषि संकट और किसान आन्दोलन

Post Views: 293 गतिविधियां सिरसा में अखिल भारतीय किसान सभा के 34 वे राष्ट्रीय सम्मेलन तैयारी के लिए स्वागत समिति के गठन के अवसर पर ‘युवक साहित्य सदन’ के सभागार…

placeholder

ब्राह्मणवाद के खिलाफ हुई भीम गर्जना – धर्मवीर

Post Views: 444 सांस्कृतिक हलचल 29 मई को यमुनानगर जिले का गांव टोपरा कलां गांव क्रांतिकारी जय भीम के नारों से गूंज उठा। जिधर देखिये उधर से जय भीम के…

placeholder

वर्तमान शिक्षा बालक को एक अच्छी मशीन बनाती है – प्रो. नन्द किशोर आचार्य

15-16 मार्च को पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ में यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग के पंजाबी विभाग की ओर से ‘शिक्षा और मानवीय विकास के संदर्भ में मातृ भाषा का योगदान’ विषय पर दो- दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया ।