placeholder

ज्ञान-पश्चिम-औपनिवेशिकता – अमन वासिष्ठ

Post Views: 58  अमनदीप वशिष्ठ भारत लगभग दो सौ साल तक अग्रेंजी साम्राज्य के अधीन रहा। साम्राज्यवाद ने भारत के प्राकृतिक-भौतिक संसाधनों का केवल दोहन ही नहीं किया, बल्कि सांस्कृतिक…

placeholder

मार्क्स के जन्म को दो सौ साल पूरे हो चले – अमन वासिष्ठ

Post Views: 39 अमन वासिष्ठ (मार्क्स के जन्म को दो सौ साल हो चुके हैं, मार्क्स ने समाज को नए ढंग से व्याख्यायित किया। द्वंद्वात्मक भौतिकवाद, ऐतिहासिक भौतिकवाद, वर्ग-संघर्ष के…

placeholder

गोगा पीर की कथा और हमारा समाज – अमन वासिष्ठ

Post Views: 785  अमनदीप वशिष्ठ गोगा जी कौन थे? जिनकी गाथा गांव-गांव आज भी गाई जाती है। आज के वक्त में, जबकि जातीय संघर्ष उबल रहे हैं, साम्प्रदायिकता उफान पर…