युद्ध की अनिवार्यता -सुरेश बरनवाल

कविता


युद्ध इसलिए होते हैं
ताकि भविष्य में और युद्ध न हो।
और
भविष्य के युद्ध को रोकने के लिए
हमेशा युद्ध होते रहेंगे।
स्रोतः सं. सुभाष चंद्र, देस हरियाणा (सितम्बर-अक्तूबर, 2016) पेज-33

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *