हमारे बारे में

सत्यशोधक फाऊंडेशन

उद्देश्य

  • साहित्यिकसास्कृतिककलात्मक रूचियों चेतना के परिष्कार के जरिये  सत्य आधारित संवेदनशीलसमतामूलक , न्यायपूर्ण   विवेकशील समाज का निर्माण। 
  • सामाजिक सोहार्द्र, साम्प्रदायिक भाईचारे, सामाजिक न्याय, साझी संस्कृति, शांति सदभाव, एकताअंखडता की स्थापना।
  • अनुसूचित जातियों, जनजातियों, अल्पसंख्यकों तथा पिछड़े वर्गों, मानसिक या शारीरिक रूप से कमजोर, वृद्धजनों, महिलाओं, निर्धन वर्ग के अधिकारों की रक्षा व  चेतना प्रसार
  • शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण,  वैज्ञानिक चेतनापठनपाठन की संस्कृति पुस्तकालयों की स्थापना करना
  • सावित्रीबाई फुले, जोतीबा फुले, बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर, शहीद भगतसिंह, कबीर, रैदास, गुरुनानक, महात्मा बुद्ध आदि प्रगतिशील विचारकों  की चिंतन परंपरा का विकास। 

कार्यक्षेत्र

  • साहित्य, संस्कृति व कला का संरक्षण व उत्थान
  • सामाजिक सोहार्द्र, साम्प्रदायिक भाईचारे, सामाजिक न्याय
  • साझी संस्कृति, शांति सदभाव, एकताअंखडता
  • भारतीय संविधान के संकल्प  मूल्य
  • प्रगतिशील परंपराओं व वैज्ञानिक चिंतन

पहलकदमियां व हस्तक्षेप

1. प्रकाशन

देस हरियाणा पत्रिका

देस हरियाणा साहित्य-समाज-संस्कृति व कला की शोध पत्रिका (ISSN 2454-6879) है, जिसमें हरियाणा व देश के लेखकों का विभिन्न विधाओं में सृजनात्मक साहित्य व चिंतकों-बुद्धिजीवियों के विभिन्न विषयों पर विचार प्रकाशित किए जाते हैं। इसमें प्रतिष्ठित लेखकों के साथ साथ युवा व नवोदित साहित्यकारों को विशेष स्थान दिया जाता है। पत्रिका हरियाणा के साहित्यिक-सांस्कृतिक परिवेश को सृजनात्मक दिशा में उद्वेलित कर रही है। हजारों पाठक इसमें प्रस्तुत विचारों से प्रेरणा लेते हुए अपनी बौद्धिक सृजना को निखार रहे हैं। सैंकड़ों लेखक इसके माध्यम से अपनी साहित्यिक रचनाओं के माध्यम से पाठकों से जुड़े हैं और समाज को सकारात्मक दिशा में योगदान देते हुए सामाजिक दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं।

पुस्तकें 

उजाले हर तरफ होंगे

बुत गूंगे नहीं होते

गुरु नानक देव जी

भारत की पहली शिक्षिका – माता सावित्रीबाई फुले

शहीद उधमसिंह की आत्मकथा

 

2. सांस्कृतिक गतिविधियां

हरियाणा सृजन उत्सव

देस हरियाणा निरंतर साहित्यिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करता है। स्वस्थ संस्कृति व स्वस्थ विचारों के निर्माण व प्रसार का कार्य कर रहा है। समय समय पर सांस्कृतिक गतिविधियों के अलावा सृजन उत्सव नाम से एक समावेशी कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, जिसमें साहित्य, फिल्म, मीडिया, रंगमंच से जुड़े संस्कृतिकर्मी भाग लेते हैं। कलाकारों के लिए सृजन उत्सव अपनी कला का प्रदर्शन के प्रदर्शन व परस्पर सीखने का मंच है।

3. साहित्यिक गतिविधियां

संगोष्ठियां, सेमिनार, कार्यशालाएं, पुस्तक परिचर्चा 

4.  शोध व प्रशिक्षण

रचनात्मक लेखन कार्यशाला, बाल लेखन

5. पुस्तकालय संचालन

डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल अध्ययन संस्थान, कुरुक्षेत्र
सावित्रीबाई-जोतिबा फुले पुस्तकालय, कुरुक्षेत्र

6. साहित्य संकलन व प्रसारण

desharyana.in

देस हरियाणा से जुड़कर आप सहयोग कर सकते हैं.

रचनात्मक 

प्रसार

आर्थिक 

 

 

संपादक
सुभाष चंद्र

मोबाइल – 9416482156     ईमेल -haryanades@gmail.com 

देस हरियाणा

912, सैक्टर-13, कुरुक्षेत्र,  (हरियाणा)-136118
संपर्क –  94164-82156

ऑनलाईन भुगतान के लिए

देस हरियाणा, इंडियन बैंक कुरुक्षेत्र
बैंक खाता संख्या –     50297128780
IFSC:      IDIB000K849  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *