दिनेश हरमन

परिचय
dinesh-harma.jpg
ग़ज़लें

दिनेश हरमन की ग़ज़लें
हमारी रूह में शामिल था जि़न्दगी की तरह
कई खुल कर फिरौती ले रहे हैं

 

Advertisements