जयपाल

परिचय

IMG_20161128_111206_HDR_1480311773267

रचनाएं

कविताएं

ये कविताएं

सर्दी आ रही है

आधुनिक नगर

कहां मानते हैं बच्चे

बच्चा

बगुला और मछली

बहिष्कृत औरत

एक चुप्पी

आम्बेडकर और रविदास

उनका सवाल

पाखण्डी

जाले

खाली हाथ

पत्नी

मेज, कुर्सी और आदमी

पन्द्रह अगस्त की तैयारी

कविता

हो सकता है

पंच परमेश्वर

डर लगता है

ड्राईंग रूम

 

 

 

 

Related Posts

Advertisements