Advertisements
29.5 C
Chandigarh,IN
Saturday, October 20, 2018

मेवाती लोक गीत -मां मेरा पीसणों, कितनो पीसो री

मेवाती लोक गीत मां मेरा पीसणों, कितनो पीसो री। जितनी दगड़ा में रेत, जणी सू कहियो री। इतनो गूंदो री, जितनी पोखर में कीच। जणी सू कहियो री... मां...

दिनेश दधीचि -डब्ल्यू० एच० ऑडेन की कविता (We, too, had known...

डब्ल्यू० एच० ऑडेन (अनुवाद - दिनेश दधीचि) हमने भी जाने सुनहरे पल हमारे पास भी थे सुनहरे पल जब जिस्म और रूह में तालमेल था। हमने भी अपने...

सरबजीत -अनश्वर

कविता कुछ भी नहीं है नश्वर मेरे सिवा कलेवर जीवित रहेगा दिसम्बर के बाद फिर-फिर इस जगत का हर निर्जीव भी अनश्वर झूठे महात्माओं ज्योतिषियों, पाखण्डियों का अनश्वर है जगत् और मेरा रोयां-रोयां नश्वर याद...

सांझी विरासत

देस हरियाणा 18

देस हरियाणा पढ़िए – समय के साथ चलिए डाक द्वारा देस हरियाणा प्राप्त करने के लिए 912, सैक्टर-13, कुरुक्षेत्र, (हरियाणा)-136118 संपर्क – व्यवस्था – 99913-78352 संपादकीय – 94164-82156 ई-मेल : haryanades@gmail.com

वास्तविक रचनाकार दूर खड़ा तमाशा नहीं देख रहा

कभी दरों से कभी खिड़कियों से बोलेंगे सड़क पे रोकोगे तो हम घरों से बोलेंगे कटी  ज़बाँ  तो   इशारे  करेंगे  आँखों  से जो सर कटे तो हम अपनी धड़ों से बोलेंगे भारतीय समाज की विडंबना ही है कि अत्यधिक तकनीकी युग में भी शासन-सत्ताओं के लिए जन-आक्रोश की दिशा भ्रमित करने के लिए साम्प्रदायिकता तुरप का पत्ता साबित हो रहा है। शासन-सत्ताएं साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण करने का हर हथकण्डा अपना रही हैं। गुड़गांव में नमाज अता करते लोगों पर हमला करना, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में 80 साल से दीवार पर टंगे मोहम्मद अली जिन्ना के चित्र पर बवाल काटना साम्प्रदायिक विभाजन की परियोजना के अंग ही तो हैं। सामूहिक चेतना का साम्प्रदायिकरण भारतीय समाज के बहुलतावादी ढांचे, सामाजिक शांति, साम्प्रदायिक भाईचारे और आपसी विश्वास को बरबाद कर देगा। सांस्कृतिक-धार्मिक बहुलता व विविधता भारतीय समाज का गहना है।

कविताएं

desharyana youtube
बंटवारा 1947 । डा. सुभाष चंद्र ।। देस हरियाणा
02:01
मीडिया: सत्ता, बाजार और जन सरोकार
01:03:19
हमन है इश्क मस्ताना- कबीर का गीत, जन नाट्य मंच, कुरूक्षेत्र
05:12
देश लुट गया - रामधारी खटकड
03:00
साहित्य चुनौती की भाषा पैदा करता है - वी.एन. राय
01:48
Yashpal sharma poetry in haryana srijan utsav 2017
11:10
Kabir Bhajan - Mera Tera Manwa | Haryana Srijan Utsav 2018 | kurukshetra | Des Haryana
18:36
URMILESH JI | Haryana Srijan 2018.
46:37
सृजन की चुनौतियां - किया क्या जाए ? | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra | Des Haryana
01:22:42
Haryana Ki Sanskriti Ke Vividh Rang | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra
01:25:38
Raagni by Geeta | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra
04:28
पत्र-पत्रिकाएं - साहित्यिक सरोकार व प्रसार | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra
01:08:52
स्त्री सृजन के संकल्प | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra
53:55
Natak - Andher nagri chaupat raja | Tyagi Art Group | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kurukshetra
37:07
संवाद - 25 सााल के रंग-सृजन के अनुभव | Haryana Srijan Utsav 2018 | Kururkshetra | Des Haryana
25:01
Umang School Nukkad Natak - Haryana Srijan Utsav-2017
09:40

सामियीकी

रागनी

अरुण कुमार कैहरबा – हरियाणा का हाल

हरियाणवी गीत हरि के हरियाले प्रदेश हरियाणा का हाल सुणो, खरी-खरी कड़वी-सी बात और चुभते हुए सवाल सुणो। दूध-दही के खाणे वाला मीठा-मीठा गीत कहां सै, मिल-बैठ कै,...

आरक्षण का मुद्दा – रामधारी खटकड़

रागनी आरक्षण का मुद्दा देखा किसा माहौल बणा ग्या रै हरे-भरे हरियाणे ने किस तरियां झुळसा ग्या रै - (टेक) राजनीति का स्वार्थ मन म्हं, नेता फायदा...

ऊधम सिंह तेरे नाम का – मनोज पवार ‘मौजी’

रागनी भारत तै चल लंदन पोहंच्या, दिल भर रया इंतकाम का दुनिया के म्हं रुक्का पाट्या, ऊधम सिंह तेरे नाम का जलियांवाळे बाग की घटना, पूरी दिल...

गतिविधियां

मिडिया

सामाजिक न्याय

Advertisements
%d bloggers like this: