placeholder

हुण दस्स चौकीदारा! – हिमाचली लोक कथा

Post Views: 573 प्रस्तुती – दुर्गेश नंदन एक चोर था । छोटी-मोटी चोरियां करके अपना और अपने परिवार का पेट पाल रहा था पर गुज़ारा वामुश्किल होता । चोर ने…

placeholder

म्हारै गाम का चौकीदार

Post Views: 367 म्हारै गाम का चौकीदार बोहत टैम पहल्यां की बात सै। म्हारै गाम म्हं एक चौकीदार था। उसके बोहत सारे काम थे। गाम कुछ भी होंदा उसका गोहा…

placeholder

टैक्सों का बोझ – चौधरी छोटू राम

Post Views: 342 चौधरी छोटू राम, अनुवाद-हरि सिंह किसान बड़ा मंदा भाग्य लिखवाकर पैदा हुआ है। दुनिया की जितनी अच्छी चीजें हैं, वे सब इससे दूर भागती हैं। जितनी बुरी…