placeholder

हरियाणा में सांग परम्परा – सपना रानी

Post Views: 876 आलेख हरियाणा में लोक मंच को ‘सांग’ के नाम से जाना जाता है। ‘सांग’ शब्द,  स्वांग शब्द से बना है जो नाट्य शास्त्र के ‘रूपक’ शब्द का…

placeholder

उस्ताद धुलिया खान

लखमी चंद जब भी कोई धुन रचते और उस्ताद धुलिया खान से सारंगी के मधुर वादन पर उस धुन को सुनते तो झूम उठते और तब एक ही बात उनकी जुबान से निकला करती – उस्ताद। कमाल कर दिया। 

placeholder

सुधीर शर्मा – मेरा नौकर वर ढुंढवाइए मेरी मां

Post Views: 346 हरियाणवी नृत्य गीत मेरा नौकर वर ढुंढवाइए मेरी मां विवाह योग्य होने पर परम्परागत समाज में अपना पति पसंद करने वाली युवतियों की भूमिका नहीं होती। पर…

placeholder

हरियाणवी संस्कृति का अनमोल रत्न-मास्टर सतबीर

Post Views: 726 नरेन्द्र कुमार  मास्टर सतबीर द्वारा गाए सांग व किस्से भगत सिंह,  सुभाष चन्द्र बोस, उधम सिंह, अंजना पवन, नल दमयन्ती, वीजा सोरठ, चापसिंह, जयमल फत्ता, पिंगला भरथरी,…

placeholder

ऊधम सिंह तेरे नाम का

Post Views: 242  मनोज पवार ‘मौजी’ भारत तै चल लंदन पोहंच्या, दिल भर रया इंतकाम का दुनिया के म्हं रुक्का पाट्या, ऊधम सिंह तेरे नाम का जलियांवाळे बाग की घटना,…

placeholder

जलियांवाळे बाग का मंजर

Post Views: 272 मनोज पवार ‘मौजी’ मेरी भोळी सूरत कांब गई, मैं छोड़ रै आपणी धीर गया जलियांवाळे बाग का मंजर, मेरा काळजा चीर गया दन-दनादन गोळी चाली, दुश्मन के…

placeholder

ऊधम सिंह नै सोच समझ कै – रणबीर सिंह दहिया

Post Views: 246 रागनी ऊधम सिंह नै सोच समझ कै करी लन्दन की जाने की तैयारी।। राम मुहम्मद नाम धरया और पास पोर्ट लिया सरकारी।। किस तरियां जालिम डायर थ्यावै…

placeholder

धांय धांय धांय होई उड़ै(शहीद उधम सिंह) – रणबीर सिंह दहिया

Post Views: 304 रागनी धांय धांय धांय होई उड़ै दनादन गोली चाली थी। कांपग्या क्रैक्सटन हाल सब दरवाजे खिड़की हाली थी।। पहली दो गोली दागी उस डायर की छाती के…

placeholder

आरक्षण का मुद्दा – रामधारी खटकड़

Post Views: 78 रागनी आरक्षण का मुद्दा देखा किसा माहौल बणा ग्या रै हरे-भरे हरियाणे ने किस तरियां झुळसा ग्या रै – (टेक) राजनीति का स्वार्थ मन म्हं, नेता फायदा…

placeholder

हमेशा चिंता में गात रहा न्यूए दसौटा काट्या – खान मनजीत भावडिय़ा

Post Views: 337 रागनी हमेशा चिंता में गात रहा न्यूए दसौटा काट्या, कद आया बचपन कद आई जवानी कोन्या बेरा पाट्या (टेक)   घास ल्याणा सान्नी-सपान्नी सदा काम में हाथ…