placeholder

सिख गुरूओं का विश्वसपात्र था मेव समुदाय – सिद्दीक अहमद मेव

  पँजाब में मेवों (मद्रों) की उपस्थिति क प्रमाण तो महाभारत काल से ही मिलते है , मगर सिंकदर के आक्रमण (326 ई.पू.) के समय से प्रमाण स्पष्ट रूप से…

placeholder

गढ़ घासेड़ा – ऐतिहासिक गांव – सिद्दीक अहमद मेव

 सिद्दीक अहमद मेव (सिद्दीक अहमद मेव पेशे से इंजीनियर हैं, हरियाणा सरकार में कार्यरत हैं। मेवाती समाज, साहित्य, संस्कृति के  इतिहासकार हैं। इनकी मेवात पर कई पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी…

placeholder

अमूल्य धरोहर है सांस्कृतिक मेवात – सिद्दीक अहमद ‘मेव’

 ( सिद्दीक अहमद मेव पेशे से इंजीनियर हैं, हरियाणा सरकार में कार्यरत हैं। मेवाती समाज, साहित्य, संस्कृति के  इतिहासकार हैं। इनकी मेवात पर कई पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। मेवाती…

placeholder

खानवा का युद्ध और मेवाती -सिद्दीक अहमद ‘मेव’

भारत के मध्यकाल के इतिहास के बारे में आधुनिक काल की शासन-सत्ताओं ने बहुत सी भ्रांतियां फैलाई।  पूरे मध्यकाल को ऐसे प्रस्तुत किया गया जैसे कि यह युग हिंदू और…

placeholder

 क्या यही सभ्यता है?- सिद्दीक़ अहमद मेव

कविता तड़पता हुआ बचपन, आसमान से बरसती आग, चीथड़ों में बदलते इन्सान, क्या यही सभ्यता है? चीखता हुआ बचपन, पैराशूट से उतरती मौत, अंग भंग हुई तड़पती लिखें, क्या यही…

placeholder

उत्सव हरियाणा सृजन – सिद्दीक अहमद मेव

कविता एक साथ इतने हैं रंग, देख के मैं तो रह गया दंग,, कोई गा रहा दफ पर यहां, कोई बजा रहा है मृदंग, उत्सव हरियाणा सृजन। कहीं कवि बिखेर…