placeholder

हरियाणवी लोक मानस और विकास का मॉडल – कृष्ण कुमार

Post Views: 310 शहर-देहात हरियाणा निर्माण की आधी सदी गुजर चुकी है। पिछले पचास वर्षों में समाज की चाल-ढाल और रंग रूप में बदलाव आया है। इस बदलाव को नेताओं…

placeholder

पारिस्थितिक संकट और समाजवाद का भविष्य – डा. कृष्ण कुमार

Post Views: 642 पठनीय पुस्तक ‘यह पृथ्वी मेरी और सब की है और यह हमारे अस्तित्व की पहली शर्त है। इस पृथ्वी को मोल तोल की एक वस्तु के रूप…

placeholder

औपनिवेशक दासता का ज्ञान-काण्ड -कृष्ण कुमार

Post Views: 190 औपनिवेशक दासता का ज्ञान-काण्ड  कृष्ण कुमार भारत लगभग दो सौ साल तक अग्रेंजी साम्राज्य के अधीन रहा। साम्राज्यवाद ने भारत के प्राकृतिक-भौतिक संसाधनों का केवल दोहन ही…