placeholder

चौराहे का दीया – कमलेश भारतीय

कमलेश भारतीय (वरिष्ठ साहित्यकार कमलेश भारतीय दैनिक ट्रिब्यून से जुड़े रहे हैं। हरियाणा ग्रंथ अकादमी की पत्रिका कथा समय का संपादन किया। वर्तमान में नभछोर के साहित्यिक पृष्ठ का संपादन…

placeholder

तीन दृश्य :  एक चेहरा – कमलेश भारतीय

तीन दृश्य मेरी आंखों में ठहरे हुए हैं और इन दृश्यों में एक ही चेहरा सामने आता है। सोते-जागते मैं इन्हें देखता रहता हूँ। उस दिन मेरी ड्यूटी नाइट-शिफ्ट में…

placeholder

मछली – कमलेश भारतीय

मछली लघु कथा                 एक सुबह आम दिनों की तरह बाजार के लिए निकला। मोड़ पार करते ही मूंगफली पटरी पर फैलाए दो लोग बैठे दिखे। मैंने ध्यान नहीं दिया।…