placeholder

ऐ हिंद पाक के लोगों – अमृतलाल मदान

अमृतलाल मदान (पिछले पचासों सालों से साहित्य सृजन में सक्रिय वरिष्ठ साहित्यकार अमृतलाल मदान हरियाणा के कैथल शहर के निवासी हैं। नाटक, कविता, उपन्यास, यात्रा आदि लगभग हर विधा में…

placeholder

ए हिन्द-पाक के लोगो – अमृल लाल मदान

अमृतलाल मदान (पिछले पचासों सालों से साहित्य सृजन में सक्रिय वरिष्ठ साहित्यकार अमृतलाल मदान हरियाणा के कैथल शहर के निवासी हैं। नाटक, कविता, उपन्यास, यात्रा आदि लगभग हर विधा में…

placeholder

हाय मेरे ईश्वर, मेरे गॉड़, वाहे गुरू, हाय मेरे अल्लाह

अमृतलाल मदान  भीष्म साहनी की स्मृति को समर्पित – गूँगा बना दिया गया था मुझे और लँगड़ा भी धर्म-संचालित पिछले भूचाल द्वारा आओ तुम भी देखो जो मैं देख रहा…

placeholder

किसानी जीवन का ऋण – अमृत लाल मदान

अमृतलाल मदान अधखुली नींद में अधखुली खिड़की से दिखने लगा था धीरे धीरे सरकता पूरा खिला चांद लुक्का-छिप्पी खेलता छोटी-छोटी बदलियों के संग आधी रात के आकाश में। सोचा, उठकर…

placeholder

दो मुंह वाला देवता

अमृत लाल मदान                 मामी जी को दो दिनों के लिए तावडू वापिस जाना पड़ा, जहां जाकर उन्हें अपने और मामा जी के मैले कपड़े धोने थे, धुले और कपड़े…

placeholder

चौपाये अतीत – अमृत लाल मदान

कविता चौपाये अतीत प्रतिबद्ध हैं वे कटिबद्ध हैं वे वर्तमान व भविष्य को स्वर्णिम अतीत की ओर धकेलने को चलो धकेलो-पेलो धकेलते चलो पेलते चलो राज पथ पर जन-जन को…