डा. भीमराव आंबेडकर का नजरिया – धर्म और राजनीति

https://youtu.be/X_ADd52lMB0
 
प्रो. एस. के. चहल
6 दिसंबर 2018 को बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर डा. ओमप्रकाश ग्रेवाल अध्ययन संस्थान कुरुक्षेत्र में धर्म और राजनीति विषय पर परिचर्चा में प्रोफेसर एस के चहल ने डा. भीमराव आंबेडकर धर्म संबंधी चिंतन पर विचार रखे.उन्होंने कहा कि डा. आंबेडकर धर्म के बारे में बहुत कटु अनुभव रहा, लेकिन उसके बावजूद उंहोंने धर्म का जीवन के लिए जरूरी माना, लेकिन वे धर्म से राजनीति को दूर रखने के पक्षधर थे। धर्म व्यक्ति का निजी मामला है। ऐतिहासिक संदर्भ में धर्म और राजनीति के विषय के विभिन्न आयामों पर प्रकाश डाला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *